प्रार्थना/मेक्सिकन/तेंदुआ

फ्रांसिस्को अलारकॉन की कविताएं

1. प्रार्थना
(अंग्रेज़ी अनुवाद-फ्रांसिस्की एरागॉन)

मैं ऐसे भगवान को बनाना चाहता हूं अपना दोस्त,
जो बदनाम घरों में रात बिताकर,
शनिवार की सुबह देर से जगता है

ऐसा भगवान जो,
गलियों में सीटी बजाता चलता है,
जो कांप जाता है
अपने प्रेमी-प्रेयसी के होँठों के सामने

ऐसा भगवान जो
सिनेमाहॉल के दरवाजे पर करता है लाइन में इंतजार
जिसे पसंद है बिना दूध की कॉफी।

ऐसा भगवान
जिसकी खखार में टीबी के कारण
आता है खून
जिसके पास नहीं है बस का किराया

ऐसा भगवान
जो प्रदर्शन के दौरान
पुलिस की तगड़ी लाठी खाकर
हो जाता है बेहोश

ऐसा भगवान जो शरीर में घुसेड़े जाने वाले इलेक्ट्रो़ड
की यातना के डर से
पैंट में कर देता है पिसाब

ऐसा भगवान जिसकी
आखिरी हड्डियों तक में होता है दर्द
जो दर्द के कारण
हपकता है हवा को।

बेरोजगार भगवान
हड़ताल में शामिल भगवान
भूखा भगवान
पुलिस से भागा हुआ भगवान
निर्वासित भगवान,
क्रोधित भगवान

ऐसा भगवान
जो जेल के अंदर से
चाहता है चीजों को बदलना,

मुझे चाहिए
एक ज्यादा भगवान के जैसा
भगवान।

Prayer-Francisco Alarcon-English Text

2. ‘मेक्सिकन’ संज्ञा नहीं है

(उन ४६ छात्रों तथा सात फ़ैकल्टी सदस्यों को समर्पित जिन्हें वाट्सनविल में दो हज़ार खान मज़दूरों के साथ, जिनमें अधिकांश महिलाएँ थी, एकता दिखाने के आरोप में २७ अक्टूबर १९८५ को गिरफ्तार किया गया था)

‘मेक्सिकन’ संज्ञा नहीं होता,
न ही है यह विशेषण।
‘मेक्सिकन’ का मतलब होता है
ज़िंदगी भर कम मज़दूरी का काम
‘मेक्सिकन’ का मतलब होता है
ख़ैरात बाँटने वाली पुलिस के फ़ॉर्म
पर सही का निशान

एक शब्द से ज़्यादा
ये है
आत्मा में धंसी हुई कील

लेकिन यह
दुखता है
दिखाता है
सपने देखता है
नाराज़ करता है
रोता है

यह चलता है
चोट पहुँचाता है
जलाता है
ठीक क्रिया की तरह।

Mexican-Francisco Alarcon- English Text

3. तेंदुआ

कुछ लोग कहते हैं
कि इस पार्क में
मैं अब क़रीब क़रीब विलुप्त हो चुका हूँ
लेकिन ऐसा कहने वालों को
नहीं पता
कि पेड़ों के बीच
ऑर्किड की ख़ुशबू में
वे सूंघ रहे हैं
मेरे गलफड़ों की गंध

झरनों की
सरसराहट में
वे सुन रहे हैं
मेरे पूर्वजों की दहाड़

रात के आकाश में
आकाशगंगा के बीच
मेरी चमड़ी पर बने सितारों जैसे धब्बों को
देख रहे हैं वे

मैं हूँ जंगली और हमेशा रहूँगा
जंगली
इस जंगल की
अदम्य, ज़िंदा आत्मा।

Jaguar-Francisco Alarcon-English Text

https://www.poetryfoundation.org/poets/francisco-x-alarcon#tab-poems

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: