कभी न लिखी जाने वाली कविता के लिए नोट्स (मार्गरेट एटवुड)

मानवाधिकार हनन और प्रताड़ना के खिलाफ मार्गरेट एटवुड की कविता। चालीस साल पहले लिखी यह कविता दुनिया भर में प्रताड़ित हो रहे लोगों, कवियों, लेखकों के लिए गहरी संवेदना से सराबोर है।

सैयद शमशुल हक की कविताएं -2 (बंगलादेश)

सैयद शमशुल हक (1935-2016) बंगलादेश के अग्रणी कवि, हैं। उनकी रचनाओं में आधुनिकताबोध के साथ ही बंगलादेश की सांस्कृतिक विरासत की गंध पिरोयी होती है। उन्होंने कविता, नाटक और उपन्यास के साथ ही अनेक विधाओं में रचनाएं की। ये कविताएं सैयद शमसुल हक के काव्य संग्रह पोरानेर गहीन भीतोर के अंग्रेजी अनुवाद से ली गयी हैं। अंग्रेजी अनुवाद प्रोफेसर सोनिया अमीन ने किया है। उनकी दस कविताओं का अनुवाद अंग्रेजी से हिंदी में दो खंडों में किया गया है। दूसरा खंड।

सैयद शमशुल हक की कविताएं -1 (बंगलादेश)

सैयद शमशुल हक (1935-2016) बंगलादेश के अग्रणी कवि, हैं। उनकी रचनाओं में आधुनिकताबोध के साथ ही बंगलादेश की सांस्कृतिक विरासत की गंध पिरोयी होती है। उन्होंने कविता, नाटक और उपन्यास के साथ ही अनेक विधाओं में रचनाएं की। ये कविताएं सैयद शमसुल हक के काव्य संग्रह पोरानेर गहीन भीतोर के अंग्रेजी अनुवाद से ली गयी हैं। अंग्रेजी अनुवाद प्रोफेसर सोनिया अमीन ने किया है। उनकी दस कविताओं का अनुवाद अंग्रेजी से हिंदी में दो खंडों में किया गया है। पहला खंड।

दनुशा लमेरिस की कविताएं

दनुशा लमेरिस अमरीका में रहती हैं। उनकी कविताओं के संग्रह The Moons of August को 2013 में Autumn House Press पुरस्कार के लिए चुना गया था। वे कहती हैं कि अपनी भाषा नहीं बोल पाना एक तरह का देश-निकाला है जिसका व्यक्ति पर गहरा असर होता है। उनकी दो कविताओं का अनुवाद

ओटो रेन कैस्टिलो (ग्वाटेमाला)

Otto Rene Castillo (1936-67) was a Guatemalan revolutionary, a guerilla  fighter, and a poet. After the coup in Guatemala, he went in exile to El Salvador where other revolutionaries helped him publish his poems. His poems exude revolutionary fire while tender feelings of love and compassion also enrich his poetry. He was brutally burnt to death in the course of his guerrilla fight against the government in Guatemala in 1967. Three of his poems are translated here in Hindi from English.

मुट्ठी भर इज्जत

कलेकुरी प्रसाद (1964-2013) , तेलुगू कवि, लेखक, अनुवादक, दलित अधिकार कार्यकर्ता। तेलुगू दलित साहित्य में महत्वपूर्ण योगदान। उनकी कविताओं में दलितों पर होने वाले अत्याचार और अन्याय के खिलाफ प्रतिरोध का स्वर मुखर रूप में सुनाई देता है।

जेयार लिन की कविताएं (म्यामार)

Zeyar Lynn (b. 1958) is a Burmese poet, critic and translator.He is a leading figure of post modern poetry in Myanmar.Lynn has propagated "poetry from the head" as opposed to that from the heart. He has published more than twenty collections of poetry and essays. He is considered a major influence on the new generation of Burmese poets. He has also translated poets such as Wisława Szymborska, Tomas Tranströmer, John Ashbery, Sylvia Plath, and Charles Bernstein into Burmese

बिछड़े प्रेमियों के लिए पत्र

'Abul Kalam Azad is a young poet. Abul’s poetry is an intersection of interior and exterior beauty of life. He speaks about the innermost reality of his self and makes a journey into an endless path.' Born in Guntur, Andhra Pradesh he currently lives in Japan. His poems have been published in many prestigious literary journals. Here is a translation of one of his poems

चिनार की पीली गवाही में दफनाया है मैंने*

कवि, कहानीकार तथा अनुवादक के. श्रीलता आधुनिक भारतीय अंग्रेजी लेखकों में एक जानी मानी नाम हैं। उनके अनेक चार काव्य संग्रह तथा एक उपन्यास प्रकाशित। बिंबों की सरलता और लेखन की सादगी उनकी कविताओं की खास पहचान है। वे आईआईटी मद्रास में अंग्रेजी की प्रोफेसर हैं। 

मनुष्य और ब्रह्मांड- कविताएं

मनुष्य और ब्रह्मांड को जोड़ने वाली दो कविताओँ का हिंदी अनुवाद। शायद जब हम अपने जन्मस्थान, देश, भाषा के नाम पर युद्ध और हत्या को जायज समझने लगे हैं ये कविताएं हमें अपने पुरखों से जोड़ कर संसार की अभिऩ्नता का अहसास कराती हैं।

मियां कविताएं-3

मियां कविताओं का श्रृंखला में मैंने अब तक दो ब्लॉगों में १० कविताएं शामिल की हैं। प्रतिरोध की इन कविताओं की तीसरी और आखिरी कड़ी में प्रस्तुत हैं चार और कविताएं।

मियां कविताएं-2

असम में रहने वाले बंगलाभाषी मुसलमानों को मियां कहा जाता है। यह उनके लिए एक अपमानजनक संबोधन है। इस समुदाय के लोगों को लंबे समय से सामाजिक तिरस्कार और हिंसा का शिकार होना पड़ा है। इसके प्रतिरोध में मियां कविता का दौर शुरू हुआ जिसे सोशल मीडिया ने लोगों के सामने लाया। इन कविताओं में गहरी संवेदना और संघर्ष की चेतना दिखाई देती है।
मैंने कुछ मियां कविताओं का अंग्रेजी से अनुवाद किया है जो तीन किश्तों में ब्लॉग पर डाल रहा हूं। पेश है इस किश्त की दूसरी कड़ी।

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: