मलिवे मसिस्का  की कविताएं (मालावी)

अनुवाद- राजेश कुमार झा कवि परिचय-मलिवे मसिस्का  का जन्म मालावी में हुआ। वर्तमान में वे लंदन के बर्कबेक विश्वविद्यालय में अंग्रेजी के प्राध्यापक हैं। उन्होंने कविताओं के अलावा अफ्रीकी लेखक वुल सोईंका तथा चिनुआ अचेबे पर भी किताबें लिखी हैं। केले का पत्ता जाड़ों के बीतने के बाद, लिखूंगा तुम्हारे लिए एक प्रेम गीत- सरल …

Continue reading मलिवे मसिस्का  की कविताएं (मालावी)